शुक्रवार, 27 अप्रैल 2012

रिज्यूम क्या होता है? (What is a resume?)


इतना तो आपको पता ही है कि किसी भी प्रकार की आजीविका (जाब – job) के लिये एक रिज्यूम (resume) देना होता है, आपने भी कई बार दिया होगा। किन्तु शायद आप यह नहीं जानते होंगे कि सभी जाब (job) के लिये एक समान घिसे-पिटे रिज्यूम (resume) देने से उसका प्रभाव बिल्कुल नहीं, या नहीं के बराबर, पड़ता है।सभी के लिये एक टाइप के रिज्यूम को प्रायः पढ़े बिना ही रिजेक्ट फाइल में लगा दिया जाता है। एक शानदार जाब के लिये आपका रिज्यूम ऐसा होना चाहिये कि उसे पढ़ कर पढ़ने वाले को महसूस हो कि यह वो रिज्यूम है जैसा कि मैं चाहता था आपके रिज्यूम से आपका व्यक्तित्व और आपकी बुद्धिमत्ता झलकनी चाहिये।
रिज्यूम क्या होता है? (What is a resume?)
रिज्यूम को हम एक बिक्री पत्र (Sale Letter) मान सकते हैं जो आपकी विद्या, गुण, निपुणता, कार्यकुशलता (skills) और अनुभवों को अत्यन्त प्रभावशाली ढंग से जाब प्रदान करने वाले के समक्ष प्रस्तुत करता है।
यदि आप में विद्या, गुण, निपुणता, कार्यकुशलता (skills) और अनुभव सभी कुछ है किन्तु आप में यह बताने की क्षमता नहीं है कि एक अच्छे जॉब के लिये समस्त आवश्यक गुण आप में है तो आपके सारे गुण बेकार सिद्ध हो जाते हैं। अच्छा रिज्यूम वह होता है जिसको पढ़ कर पढ़ने वाला प्रभावित हो जाने के लिये विवश हो जाये
अतः जब कभी भी आप अपना रिज्यूम लिखें तो सबसे पहले स्वयं को उस विशिष्ट जॉब जिसके लिये आप आवेदन करने जा रहे हैं तथा जाब प्रदान करने वाले के द्वारा चाही गई आवश्यकताओं (requirements) के प्रति केन्द्रित कर लेना चाहिये।
रिज्यूम लिखते समय ध्यान देने वाली आवश्यक बातें
  • स्वयं के विषय में तथ्य तथा आँकड़े: एक आवेदक के तौर पर आप जाब प्रदान करने वाले को स्वयं के विषय में जानकारी ही देते हैं। अतः रिज्यूम लिखते समय आप अपने विषय में सारे तथ्य तथा आँकड़ों को संग्रहित कर लें। किसी अलग कागज पर सारे तथ्य तथा आँकड़ों को लिख लेना चाहिये ताकि कोई भी महत्वपूर्ण जानकारी छूट न जाये।
  • व्यक्तिगत जानकारी: अपने रिज्यूम की शुरुवात अपने विषय में व्यक्तिगत जानकारी देने से करें। कागज के बाँयीं ओर वाली ऊपरी हिस्से (top left) में मोटे (bold) अक्षरों में अपना नाम टाइप करें। फिर अपना वर्तमान पूरा पता (यदि अस्थायी तथा स्थायी दो पते हैं तो दोनों ही), सम्पर्क विवरण जैसे कि फोन नम्बर, मोबाइल नम्बर, ई-मेल पता आदि की जानकारी दें। शीर्षक के रूप में ‘RESUME’, ‘BIODATA’ आदि टाइप करने की कोई आवश्यकता नहीं है। सिर्फ आपका नाम ही काफी है।
  • विषय (Objective): विषय के रूप में एक संक्षिप्त कथन (statement) लिखें जो कि आपके रिज्यूम को पढ़ने वाले को आपके कैरियर के उद्देश्य (career goals) के बारे में जानकारी दे। विषय के अन्तर्गत निम्न बातें शामिल होनी चाहिये:
    • एक सामान्य या विशिष्ट जाब टाइटिल जैसे कि ‘कम्प्यूटर आपरेटर’ ‘ग्राफिक डिजाइनर’ आदि।
    • यदि चाहें तो अपनी योग्यताओं के विषय में विषय में अतिसंक्षिप्त जानकारी।
  • शैक्षणिक योग्यताएँ: फिर इसके बाद अपनी शैक्षणिक योग्यताओं के विषय में पूर्ण जानकारी दें।
  • विशेष योग्यताएँ: शैक्षणिक योग्ताओं के बाद अपनी विशेष योग्यताओं के विषय में जानकारी दें।
  • अन्य योग्यताएँ: अपनी अन्य योग्यताओं जैसे कि कम्प्यूटर का ज्ञान, आधुनिक टेक्नालाजी के विषय में ज्ञान आदि के विषय में उल्लेख करना करें।
  • अनुभवों का विवरण: आप वर्तमान में क्या कर रहे हैं, विगत वर्षों में आपने कब-कब क्या-क्या किया है, अन्य संस्थाओं में आपकी क्या उपलब्धियाँ रही हैं आदि की पूर्ण जानकारी अवश्य ही दें।
  • अन्य गतिविधियाँ (Extra Caricular Activities): अपनी अन्य गतिविधियाँ जैसे कि खेल-कूद (sports), भाषण तथा वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि में भी अपनी उपलब्धियों के विषय में अवश्य बतायें।
  • समस्त प्रमाणपत्रों (certificates) की प्रतिलिपियाँ नत्थी करना बिल्कुल न भूलें।
  • पूर्ण ईमानदारी (honesty) बरतें, कोई भी झूठी जानकारी न दें।
  • हिज्जों तथा व्याकरण की गलतियाँ (spelling & grammatical mistakes) बिल्कुल न करें।
  • स्वच्छता का पूरा पूरा ध्यान रखें।
  • उचित समय में अपना आवेदन प्रस्तुत करें, अन्तिम तारीख तक प्रतीक्षा न करें।
  • और अपने रिज्यूम के साथ एक प्रभावशाली सारांश वाली कव्हर लेटर (cover letter) अवश्य संलग्न करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें