संदेश

बद्रीनाथ से केदारनाथ की यात्रा

चित्र
दिनांक 9 अक्‍टुबर 2013 को सुबह 6 बजे उठ कर ब्रदीनाथ के नजदीक बने तप्‍त कुण्‍ड में स्‍नान कर के श्रीबद्रीनाथ जी के मन्दिर में दर्शन किया एंव 7 बजें बद्रीनाथ के बस स्‍टैण्‍ड में जा कर जोशीमठ तक के लिए सुमो गाडी पर जा कर बैठ गया। गाडी खुलने में कुछ समय लग रहा था तो मै बस स्‍टैण्‍ड के पास ही बने एक ढाबा में गर्मा गर्म 2 आलु के पराठे को खाया इतने में गाडी को खुलने का समय हो गया। जब गाडी गोविन्‍दधाट पहुची तो यहां पर लैण्‍ड स्‍लाइड हो गया था जिसे सीमा संडक संगठन के लोग राश्‍ते को साफ करने में लगे हुए थे आप को बतला दु की उतराखण्‍ड के पहाडी क्षेत्रों में कभी भी लैण्‍ड स्‍लाइड हो जाती है। 1 धंटे तक रूकने के बाद सडक मार्ग साफ हुआ । 10 बजें जोशीमठ पहुचा जैसे ही जोशीमठ में पहुचा तो यहां से चमोली के लिए गाडी लगी हूयी थी मैने फटा फट चमोली जाने वाली गाडी पर बैठा और यह गाडी तुरन्‍त चमोली के लिए खुल गयी। जोशीमठ से चमोली पहुचने में 4 धंटे लग गए । चमोली 2 बजें पहुचा यहॉ पहुच कर चाय पानी लिया । चमोली उतराखण्‍ड का जिला जिसका मुख्‍यालय गोपेश्‍वर में है। गोपेश्‍वर चमोली से 13 कि मी की दुरी पर है । चमोली अलकन…

नेपाल मे जनकपुर यात्रा

चित्र
25 सितम्बर 2015 दिन शनिवार इस दिन बकरीद का  सरकारी छुटी था मेरा पदस्थापन मुजफ्फरपुर जिला  मे था मै सोचा इस दिन कमरा मे मै दिन बिताने से अच्छा है कही कोई धार्मिक स्थान पर घूमु तो मै सोचा क्योऊ ना नेपाल मे जनकपुर को घुमने जाऊ तो मै 25 सितम्बर को सुबह 6 बजे मुजफ्फरपुर से बस धरा और चल दिया ! मुजफ्फरपुर से बस के द्वारा सीतामढ़ी चल गया !  सीतामढ़ी मे जाने के बाद पता चला की जनकपुर के लिये कोई भी बस नहीं चल रही है नेपाल मे नई सविधान के खिलाफ भारत और नेपाल के सीमा पर रह रहे नेपाल के नागरिक जो मध्यशी कहलाते है वो नेपाल को  ४२ दिनों से बंद करा रखे है जिस कारन कोई भी साधन जनकपुर तक जाने के लिया नहीं है !  तब मेरे मन मे गुरुनानक जी का विचार आया तुम वहा तक जाओ जहा तक तुम्हे दिखयी देता है वहा जाने के बाद आगे का राश्ता तुम्हे दिखेगा तब मै सोचा  क्यों न भारत नेपाल का बॉर्डर भिठामोर तक जाऊ वहा तक तो बस जा रहा है ! यह सोच कर मै भिठामोर का बस मे जा बैठा तक़रीबन 2 बजे भिठामोर पहुचा ! सीतामढ़ी से भिठामोर 35 कि मी की दुरी पर है और मुजफ्फरपुर से सीतामढ़ी 60 कि मी की दुरी पर है ! भिठामोर भारत नेपाल का ब…

केसरिया का बौध स्‍तूप

चित्र
3  फरवरी को मुजफफरपुर के साहेबगंज प्रखण्‍ड में परियोजना के कार्य हेतु गया कार्य था स्‍वर्ण जयन्‍ती ग्राम स्‍वरोजगार योजना के तहत बने भवनो को पहचान करने एवं साहेबगंज प्रखण्‍ड के प्रखण्‍ड विकास पदाधिकारी एवं जीविका परियोजना के प्रखण्‍ड परियोजना प्रबंधक से मिल कर भवनो के स्‍थिति से अवगत कराने के लिए  इस क्रम में भवन की स्‍थिति देखने के लिए बैधनाथपुर ग्राम में बने भवन का निरीक्षण करने के लिए गया भवन की स्‍थिति  तो अच्‍छी  थी परन्‍तु फर्श टुटा हुआ था गांव वाले के द्वारा पता चला की इस भवन का उपयोग गांव वाले किसी कार्यक्रम में करते है इस कारण इसकी स्‍थिति अच्‍छी  नही है तब ही पता चला की यहा से केसरिया मात्र 6 कि मी की दुरी पर है तो सोचा क्‍यो ना जा कर धुम आउ तो चल दिया केसरीया धुमने के लिए।  तो आइए जानते है केसरिया स्‍तुप के बारे में  केसरियाचंपारणसे ३५ किलोमीटर दूर दक्षिणसाहेबगंज-चकियामार्ग परलाल छपराचौक के पास अवस्थित है।

यह पुरातात्विक महत्व का प्राचीन ऐतिहासिक स्थल हैयहाँ एक वृहद् बौद्धकालीन स्तूप है जिसेकेसरिया स्तूपके नाम से जाना जाता है।केसरिया एक महत्‍वपूर्ण बौद्ध स्‍थल हैयह चंपारण में…

यात्रा वैशाली एवं कोल्‍हूआ का

चित्र
वर्ष 2014 में किसी भी नये जगह की यात्रा नही किया था जिस कारण मन में काफी विचार आ रहा था की मै क्‍या कर रहा हूू कोइ्र भी नयी जगह का भ्रमण नही कर पा रहा हू कार्य की व्‍यस्‍तता के कारण नये जगह का भ्रमण नही हो पा रहा था तथा कुछ आर्थिक समस्‍या भी आ रही थी क्‍योकि मै अपना धर बनाने में पैसा का उपयोग कर रहा था  तो सोचा क्‍यो न कोई यात्रा किया जाए नए साल में तो राजस्‍थान आजीविका विकास परिषद से दिनांक 10 जनवरी को 47 एकिटव वूमन समूह क्‍यों पर प्रशिक्षण लेने आ गयी मुजफफरपुर में इस प्रशिक्षण में ग्राम संगठन में का शैक्षणिक परिभ्रमण का एक दिवसीय कार्यक्रम था इसी कार्यक्रम को पुरा करने के लिए वैशाली  के समिप सरैया प्रखण्‍ड के रूपौली गांव में जयहिन्‍द ग्राम संगठन में रखा गया । ग्राम संगठन के शैक्षणिक परिभ्रमण के बाद सोचा की यहां से 10 कि मी की दुरी पर विश्‍व का प्रथम गणराज्‍य वैशाली है और भगवान म‍हावीर का जन्‍म स्‍थल भी है तथा बौध धर्म स्‍थल कोल्‍हुआ भी है तो मैने सोचा कयो ना इन स्‍थले का भ्रमण किया जाए जिससे की इनके बारे में मुझे जानकारी प्राप्‍त हो जाए तथा राज्‍स्‍थान से आयी महिलाओं को भी जानकारी …